Please Wait...

कृष्णाजी प्रभाकर खाडिलकर (भारतीय साहित्य के निर्माता): Krishnaji Prabhakar Khadilkar (Makers of Indian Literature)

पुस्तक के बारे में

 

कृष्णाजी प्रभाकर खाडिलकर काका साहब खाडिलकर के नाम से विशेष प्रसिद्ध थे । एक महान् देशभक्त के रूप में आज भी उनका पर्याप्त सम्मान है । मराठी नाटय-सृष्टि में उन्होंने बहुमूल्य कार्य किया । मराठी नाट्य प्रेमियों ने अत्यंत लेह भाव से उन्हें नाट्याचार्यकी पदवी से विभूषित किया ।

कृष्णाजी प्रभाकर खाडिलकर एक प्रसिद्ध पत्रकार भी थे । महाराष्ट्र में आधुनिक पत्रकारिता की नींव उन्हीं ने डाली थी । खाडिलकर श्रेष्ठ चिंतक तथा वैदिक साहित्य के अभ्यासक थे । कृष्णाजी प्रभाकर खाडिलकर सादगी, सदाचार और ईमानदारी, देशभक्ति, स्वाभिमान व नेकी, इन गुणों की प्रत्यश मूर्ति ही थे ।

इस पुस्तिका के लेखक नारायण कृष्ण शनवारे ने मराठी नाट्य-सृष्टि पर विशेष शोधकार्य किया है । महाराष्ट्र की राज- नीतिक हलचल का मराठी नाट्यसृष्टि पर प्रभाव (सन् ‘1843  से 1947’) उन्होंने शोध प्रबंध लिखा है ।

इस पुस्तिका में आपने मराठी नाट्य-सृष्टि में खाडिलकर के बहुमूल्य योगदान की समीक्षा तथा उनके व्यक्तित्व का चित्रण पाठकों के सामने रखा है ।

 

अनुक्रम

1

प्रारंभ

7

2

देशभक्त (तिलक युग)

13

3

देशभक्त (गाँधी युग)

28

4

नाट्याचार्य

37

5

पत्रकार

54

6

वक्ता

72

7

दार्शनिक

78

8

व्यक्ति तथा गृह-जीवन

83

9

उपसंहार

95

10

सूची

97

 

Add a review

Your email address will not be published *

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

Post a Query

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

CATEGORIES

Related Items