बगलामुखी साधना पध्द्ति (संस्कृत एवम् हिन्दी अनुवाद) - How to Perform Sadhana of Goddess Bagalamukhi

बगलामुखी साधना पध्द्ति (संस्कृत एवम् हिन्दी अनुवाद) - How to Perform Sadhana of Goddess Bagalamukhi

Best Seller
$14
Quantity
Ships in 1-3 days
Item Code: HAA175
Author: पं हरिहरप्रसाद त्रिपाठी: (P. Harihar Prasad Tripathi)
Publisher: Chowkhamba Krishnadas Academy
Language: Sanskrit Text to Hindi Translation
Edition: 2011
ISBN: 9788121801419
Pages: 134
Cover: paperback
Other Details 8.5 inch X 5.5 inch
Weight 140 gm
23 years in business
23 years in business
Shipped to 153 countries
Shipped to 153 countries
More than 1M+ customers worldwide
More than 1M+ customers worldwide
Fair trade
Fair trade
Fully insured
Fully insured

प्राक्कथन

 

समस्त आगम ग्रन्थों में दश महाविद्याओं (काली, तारा, षोडशी, भुवनेश्वरी, छिन्नमस्ता, त्रिपुरभैरवी, धूमावती, बगला, मातंगी एवं कमलात्मिका) का वर्णन पाया जाता है, जिनमें बगलामुखी का स्थान सर्वोपरि है । इनकी साधना के फलस्वरूप साधक के सम्पूर्ण शत्रुओं का उन्मूलन होता है । अत इन्हें शत्रुसहारिणी देवी कहने में भी किसी प्रकार की अतिशयोक्ति नही होगी ।

प्रस्तुत पुस्तक बगलामुखी साधना पद्धति में इनके षोडशोपचार पूजन, मन्त्रसिद्धि प्रयोग, स्तोत्रपाठ, कवच, पुरक्षरण आदि विषयों पर विशद व्याख्या की गयी है । इसके साथ ही इसमें बगलामुखी सहस्त्र नामावली का भी समावेश कर दिया गया है । इस नामावली के सर्फ स्वाहाकार मन्त्र हवन के निमित्त प्रयुक्त होते हैं । अब केवल इस एक पुस्तक से ही पाठकों को सम्पूर्ण विधियों का अभिज्ञान हो जायगा । किसी अन्यपुस्तक के क्रय करने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी । पाठकों की सुविधा क्य ध्यान में रखते हुए ही इस प्रकार का समायोजन किया गया है ।

इसके अतिरिक्त पूजन काल में प्रयुक्त होने वाले सभी आवश्यक मुद्राओं के लक्षण सरल हिन्दी भाषा में दे दिये गये हैं जो अत्यन्त उपयोगी सिद्ध होंगे । अब तक अन्य स्थानों में मुद्राओं के जो लक्षण पाये गये है. प्राय संस्कृत के मूलरूप में ही देखने को मिलते हैं । असंस्कृतभाषी पाठकों के लिए वे सभी निरर्थक एवं अनुपयोगी सिद्ध हो रहे थे । अब केवल इस पुस्तक व्याख्या के द्वारा पुस्तक की अत्यधिक उपयोगिता बढ़ गयी है । अतएव हिन्दी जगत् में यह पुस्तक अपने आप में अद्वितीय है ।

पुस्तक प्रकाशन की निरन्तरता ही प्रकाशक की लगनशीलता एवं जागरूकता का परिचायक हुआ करता है । अत इसके लिए श्रीकृष्णदास अकादमी चौखम्बा संस्कृत सीरीज, वाराणसी के अधिष्ठाता श्री टोडरदासजी गुप्त धन्यवाद के पात्र हैं जिनकी तत्परता के परिणामस्वरूप संस्थान द्वारा निर्वाध गति से प्रकाशन होता रहता है ।

 

अनुक्रमणिका

1

बगला स्तुति

 

2

बगलासाधना पूजा विधि

1

3

षटर्क्मादिक हवन एवं यन्त्रलेखन विधि

11

4

अथ बगलामुखी कवचम्

13

5

अथ बगलाहृदयस्तोत्रम्

20

6

अथ बगलामुखीशतनामस्तोत्रम्

25

7

बगलामुखी सहस्रनामस्तोत्रम्

28

8

बगलामुखी सहस्रनामावलि

43

9

अथ बगलामुखीस्तोत्रम्

61

10

षोडशोपचार बगला पूजन

64

11

बगलामन्त्रसाधना विधि

73

12

बगलाजन्मोत्पत्तिरहस्यम्

80

13

बगलामुखी दीपदान विधि

82

14

अथ बगलामुखी ब्रह्मास्त्रम्

84

15

बगला नित्यार्चन विधि

88

16

बलिदानम्

108

17

षट्कर्मों हेतु बगलामुखी के प्रयणोत्मक मन्त्र

110

18

अथ पीताम्बरोपनिषत्

114

19

बगलामुखीतन्दम्

116

20

बगलामुखी चालीसा

118

21

श्रीबगलामुखी की आरती

121

22

बगलामुखी पूजन सामग्री

122

23

सिद्धिप्राप्ति हेतु बगलामुखी के हवनीय द्रव्य

123

24

बगलामुखी पूजन यन्त्रम्

124

 

Sample Pages








Add a review
Have A Question

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

CATEGORIES