Please Wait...

मामूली चीज़ों का देवता: God of Small Things

मामूली चीज़ों का देवता: God of Small Things

मामूली चीज़ों का देवता: God of Small Things

$12.80
$16.00  [ 20% off ]
Quantity
Ships in 1-3 days
Item Code: HAA270
Author: अरुन्धति राय: (Arundhati Roy)
Publisher: Rajkamal Prakashan Pvt. Ltd.
Language: Hindi
Edition: 2013
ISBN: 9788126710188
Pages: 295
Cover: Paperback
Other Details: 8.5 inch X 5.5 inch
weight of the book: 300 gms
Post a Query

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

पुस्तक परिचय

एक विशुद्ध व्यावहारिक अर्थ में तो शायद यह कहना सही होगा कि यह सब उस समय शुरू हुआ, जब सोफ़ी मोल आयमनम आई । शायद यह सच है कि एक ही दिन में चीज़ें बदल सकती हैं । कि चंद घंटे समूची जिन्दगियों के नतीजों को प्रभावित कर सकते हैं । और यह कि जब वे ऐसा करते हैं, उन चंद घंटों को किसी जले हुए घर से बचाए गए अवशेषों की तरह करियाई हुई घड़ी, आँच लगी तस्वीर, झुलसा हुआ फ़र्नीचर खंडहरों से समेट कर उनकी जाँच परख करनी पड़ती है । सँजोना पड़ता है । उनका लेखा जोखा करना पडता है ।

छोटी छोटी घटनाएँ, मामूली चीज़ें, टूटी फूटी और फिर से जोड़ी गईं । नए अर्थो से भरी । अचानक वे किसी कहानी की निर्वर्ण हड्डियाँ बन जाती हैं ।

फिर भी, यह कहना कि वह सब कुछ तब शुरू हुआ जब सोफ़ी मोल आयमनम आई, उसे देखने का महज एक पहलू है ।

साथ ही यह दावा भी किया जा सकता था कि वह प्रकरण सचमुच हज़ारों साल पहले शुरू हुआ था । मार्क्सवादियों के आने से स्तुत पहले । अंग्रेजों के मलाबार पर कच्चा करने से पहले, डच उत्थान से पहले, वास्को डि गामा के आगमन से पहले, जमोरिन की कालिकट विजय से पहले ।

किश्ती में सवार ईसाइयत के आगमन और चाय की थैली से चाय की तरह रिसकर केरल में उसके फैल जाने से भी बहुत पहले हुई थी ।

कि वह सब कुछ दरअसल उन दिनों शुरू हुआ जब प्रेम के बने । वे क़ानून जो यह निर्धारित करते थे कि किस से प्रेम किया जाना चाहिए,और कैसे और कितना ।

बहरहाल, व्यावहारिक रूप से एक नितान्त व्यावहारिक में वह दिसम्बर उनहत्तर का (उन्नीस सौ अनुच्चरित था) एक नीला दिन था । एक आसमानी रग की प्लिमथ, अपने टेलफ़िनों में सूरज को लिये, धान के युवा खेतों और रबर के बूढ़े पेड़ों को तेजी से पीछे छोड़ती कोचीन की तरफ़ भागी जा रही थी

 

अनुक्रम

1

पैराडाइज़ अचार और मुरब्बे

13

2

पप्पाची का पंतागा

42

3

बिग मैन द लालटेन, इस्मॉल मैन द मोमबत्ती

86

4

अभिलाष टॉकीज

91

5

धरती पर स्वर्ग

116

6

कोचीन के कंगारू

126

7

ज्ञान अभ्यास पुस्तिकाएँ

142

8

स्वागत है तुम्हारा, प्यारी सोफ़ी मोल

151

9

श्रीमती पिल्ले,श्रीमती ईपन, श्रीमती राजगोपालन

170

10

नाव में नदी

175

11

मामूली चीज़ों का देवता

194

12

कोच्चु थोम्मन

205

13

आशावादी और निराशावादी

213

14

श्रम संघर्ष है

238

15

पार उतराई

254

16

कुछ घण्टों बाद

256

17

कोचीन हार्बर टर्मिनस

259

18

इतिहास घर

267

19

अम्मू को बचाना

275

20

मद्रास मेल

283

21

जीने की क़ीमत

289

 

Add a review

Your email address will not be published *

For privacy concerns, please view our Privacy Policy

CATEGORIES

Related Items